WazirX के को-फाउंडर्स ने छोड़ा इंडिया; निश्चल शेट्टी-सिद्धार्थ मेनन हुए दुबई शिफ्ट

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX के को-फाउंडर्स निश्चल शेट्टी और सिद्धार्थ मेनन के इंडिया छोड़ दुबई शिफ्ट होने की खबर है. बिजनेस टुडे ने सूत्रों के हवाले से इसकी खबर दी है.

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग की सुविधा देने वाली स्टार्टअप कंपनी वजीरएक्स (WazirX) के को-फाउंडर्स निश्चल शेट्टी और सिद्धार्थ मेनन अब भारत को छोड़ दुबई शिफ्ट हो गए हैं. बिजनेस टुडे ने इस मामले की जानकारी रखने वाले कई सूत्रों के हवाले से खबर दी है.

कंपनी के CTO अभी इंडिया में

सूत्रों का कहना है कि कंपनी के मुंबई और बेंगलुरू ऑफिस अभी बने हुए हैं. वहीं कंपनी के मुख्य तकनीकी अधिकारी (CTO) और एक अन्य को-फाउंडर समीर म्हात्रे भी इंडिया में हैं और यहीं से काम कर रहे हैं. जबकि निश्चल शेट्टी और सिद्धार्थ मेनन के अपने परिवार के साथ दुबई शिफ्ट होने की जानकारी है.

वर्क फ्रॉम होम पर सभी कर्मचारी

कोरोना के चलते कंपनी वर्क फ्रॉम होम मोड पर काम कर रही है. मौजूदा वक्त में कंपनी के सभी कर्मचारी रिमोट लोकेशन यानी कि वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) कर रहे हैं.

क्रिप्टो पर सरकार ने लगाया टैक्स

निश्चल शेट्टी और सिद्धार्थ मेनन के इंडिया छोड़कर जाने की ये खबर ऐसे समय आई है, जब देश में क्रिप्टो और अन्य वर्चुअल एसेट पर टैक्स लगाए जाने ( Tax on Cryptocurrency) को लेकर लंबी बहस चल रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने इस साल बजट के दौरान क्रिप्टो एसेट पर 30% तक टैक्स लगाने की घोषणा की थी. साथ ही इस पर 1% टीडीएस अलग से भी लगाया गया है. इसके बाद बजट सत्र के दौरान सरकार ने संसद में साफ किया था कि किसी अन्य वर्चुअल एसेट पर होने वाले लाभ की भरपाई किसी अन्य एसेट पर हुए नुकसान से नहीं की जाएगी.

सोशल मीडिया पर मुखर शेट्टी

निश्चल शेट्टी क्रिप्टो को लेकर सरकार की नीतियों के मुखर आलोचक रहे हैं. वो इस बारे में अक्सर ट्विटर पर काफी एक्टिव रहते हैं. सरकार के क्रिप्टो पर टैक्स लगाने को लेकर निश्चल शेट्टी ने कई मंचों पर कहा कि इससे घरेलू क्रिप्टो प्लेयर्स पर इंपैक्ट पड़ेगा और देश से ब्रेन ड्रेन की तरह वेल्थ ड्रेन होगा.

WazirX ने जारी किया बयान

इसी बीच WazirX ने बयान जारी कर कहा है, “हम रिमोट-फर्स्ट ऑर्गनाइजेशन हैं. हमारे यहां 70 से ज्यादा लोकेशन के कर्मचारी काम करते हैं. इससे कंपनी के सभी कर्मचारियों को ऑफिशियल ट्रेवल को छोड़कर अन्य मौकों पर अपनी सुविधा के हिसाब से कहीं से भी काम करने की सहूलियत मिलती है.  WazirX  का हेडक्वार्टर मुंबई और बेंगलुरु में है और हमारे ऑपरेशन्स के तरीके में कोई बदलाव नहीं हुआ है….”

ईडी ने दिया था नोटिस

प्रवर्तन निदेशालय (ED)ने इस साल जून में फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) के कथित उल्लंघन के लिए WazirX को कारण बताओ नोटिस जारी किया. ये नोटिस 2,790.74 करोड़ रुपये मूल्य के क्रिप्टोकरेंसी सौदों को लेकर दिया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close
Translate »