​9 साल में बिटकॉइन ने साढ़े सात लाख गुना रिटर्न दिया

​9 साल में बिटकॉइन ने साढ़े सात लाख गुना रिटर्न दिया

According to 2017 News…..​9 साल में बिटकॉइन ने साढ़े सात लाख गुना रिटर्न दिया

अगर आपने 9 साल पहले बिटकॉइन में 100 रुपये का निवेश किया होता तो आज 7.5 करोड़ रुपये के मालिक होते. 2009 में बिटकॉइन में किया गया निवेश करीब साढ़े सात लाख गुना हो गया है. 2009 में जब यह करेंसी चलन में आई थी तब एक बिटकॉइन की कीमत करीब 36 पैसे के बराबर थी.

इस साल 300 फीसदी चढ़ी कीमत

इस साल अब तक बिटकॉइन की कीमतों में करीब 300 फीसदी का उछाल आया है. इस साल की शुरुआत में एक बिटकॉइन की कीमत 1000 अमेरिकी डॉलर से भी कम थी. सिर्फ अगस्त महीने में अब तक बिटकॉइन की कीमत में करीब 47% का उछाल आया है. एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (कमोडिटी एवं करेंसी) अनुज गुप्ता के मुताबिक बिटकॉइन से जुड़े सॉफ्टवेयर को अपग्रेड किया गया है. माना जा रहा है कि इससे बिटकॉइन करेंसी में सौदे की स्पीड बढ़ेगी. इसके अलावा उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ने से बिटकॉइन में सुरक्षित निवेश बढ़ा है. वैश्विर निवेशक सोने के अलावा बिटकॉइन में भी निवेश बढ़ा रहे हैं. अमेरिकी निवेश बैंक गोल्डमैन सैक्स ने हाल ही में अपने नोट में कहा है कि क्रिप्टो करेंसी में ग्रोथ की भारी संभावनाएं हैं अब इसे अनदेखा करना मुश्किल होगा.

क्या है बिटकॉइन ?

बिटकॉइन वर्चुअल करेंसी हैं . यह अन्य मुद्राओं की तरह जैसे डॉलर, रुपये या पाउन्ड की तरह भी इस्तेमाल की जा सकती है. ऑनलाइन पेमेंट के अलावा इसको डॉलर और अन्य मुद्राओं में भी एक्सचेंज किया जा सकता है. यह करेंसी बिटकॉइन के रूप में साल 2009 में चलन में आई थी. आज इसका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है. बिटकाइन की ख़रीद और बिक्री के लिए एक्सचेंज भी हैं. दुनियाभर के बड़े बिजनेसमैन और कई बड़ी कंपनियां वित्तीय लेनदेन मेंl

दुनिया की सबसे महंगी करेंसी

बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है. फिलहाल एक बिटकॉइन की ऑनलाइन या बाजार कीमत करीब 2.69 लाख रुपये से भी ज्यादा है. कम्प्यूटर नेटवर्कों के जरिए इस मुद्रा से बिना बैंक के ट्रांजेक्शन किया जा सकता है. वहीं, इस करेंसी को डिजिटल वॉलेट में भी रखा जाता है.

कैसे काम करती है बिटकॉइन?

आप बिटकॉइन को अपने कंप्यूटर या मोबाइल फोन पर बिटकॉइन वॉलेट के रूप में इंस्टॉल कर सकते हैं. इससे आपका पहला बिटकॉइन एड्रेस बनेगा और जरूरत पड़ने पर आप एक से ज्यादा एड्रेस भी बना सकते हैं. अब आप अपने मित्रों को अपना बिटकॉइन एड्रेस दे सकते हैं. इसके बाद आप उनसे भुगतान ले या उन्हें भुगतान कर भी सकते हैं.
अवैध धंधों में हो रही बड़े पैमाने पर इस्तेमाल
बिटकॉइन का इस्तेमाल ब्लैकमनी, हवाला, ड्रग्स की खरीद-बिक्री, टैक्स की चोरी और आतंकवादी गतिविधियों में बड़े पैमाने पर होता है. बिटकॉइन के बढ़ते इस्तेमाल ने दुनियाभर के देशों में सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है. भारत में रिजर्व बैंक या किसी भी अन्य रेग्युलेटर ने इस वर्चुअल मुद्रा को कानूनी मान्यता नहीं दी है
देश में भी खूब हो रहा बिटकॉइन में लेनदेन
केंद्र सरकार फिलहाल बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी के ऑनलाइन लेनदेन पर रोक लगाने की स्थिति में नहीं है. इस मामले में सरकार के भीतर हुए विमर्श कई बार हो चुका है. ऐसी करेंसी की ऑनलाइन खरीद-फरोख्त पर नियंत्रण संभव नहीं है. हालांकि अभी सरकार ने इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है. दुनिया में करीब 90 से अधिक वर्चुअल करेंसी चलन में हैं.
आप भी कर सकते हैं बिटकॉइन में निवेश, जानिए कैसे?
भारत में बिटकॉइन कहां से खरीदें?
भारत में बिटकॉइन की खरीद-फरोख्त के लिए 11 ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म हैं. इसमें उनोकॉइन, जेबपे, कॉइनसिक्योर, कॉइनमामा, लोकलबिटकॉइन और बिटकॉइन एटीएम जैसे नाम शमिल हैं.
क्या यह बहुत महंगा है?
दुनिया भर में बिटकॉइन की कीमत $11,000 के पार पहुंच चुकी है. बुधवार को इसने $11,434 का उच्चतम स्तर हासिल किया. रुपये में इसकी कीमत 8.6 लाख रुपये प्रति बिटकॉइन है.
सिर्फ अमीर लोग ही इसमें निवेश कर सकते हैं?
जरूरी नहीं कि आप बिटकॉइन की पूरी यूनिट ही खरीदे. आप बिटकॉइन को हिस्सों में भी खरीद सकते हैं. जैसे रुपये के सौवें भाग को पैसा कहा जाता है, वैसे ही बिटकॉइन के दस करोड़वें हिस्से को सतोषी कहा जाता है. आप बिटकॉइन में न्यूनतम 1000 रुपये से निवेश कर सकते हैं.
बिटकॉइन के अलावा भारत में कौनसी क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं?
इस समय बिटकॉइन के अलावा भारत में एथेरियम, लाइटकॉइन, डैश, रिपल, जैसी कुछ क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं, जो लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हैं. बिटकॉइन को देखकर इन करेंसी की कीमत भी काफी तेजी से बढ़ी है, मगर बिटकॉइन को टक्कर कोई नहीं देता.

One thought on “​9 साल में बिटकॉइन ने साढ़े सात लाख गुना रिटर्न दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close
Translate »