मशरूम खाने के फायदे और नुकसान हिंदी में

मशरूम खाने के फायदे और नुकसान

मशरूम खाने के फायदे और नुकसान

Mushroom

मशरूम खाने के फायदे  सब्जी की तरह खाने में काम लिया जाता है। इसे कुम्भी Kumbhi भी कहा जाता है। बारिश के मौसम में ये अपने आप उग आते है। यह एक प्रकार की फंगी Fungi यानि कवक है।
ये कई प्रकार के रंग , आकार और गुण वाले पाए जाते हैं । ये सभी  खाने के योग्य नहीं होते है। कुछ प्रजाति जहरीली होती है अतः जानकारी और पहचान के बिना किसी भी मशरूम या कुकुरमुत्ते का उपयोग नहीं करना चाहिए , यह घातक हो सकता है।

प्रकृति ने हमें वनस्पति के रूप में कई प्रकार की खाद्य वस्तुएं दी हैं। उन्हीं में से एक है मशरूम। मशरूम की विभिन्न प्रजातियां दुनिया भर में मौजूद हैं। क्या आपको मालूम है कि इस छोटे-से पौधे में कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जाे हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकते हैं। स्टाइलकेज के इस आर्टिकल में हम मशरूम के गुण  और सेहत के लिए उसके फायदों के बारे में बात करेंगे। मशरूम न सिर्फ हम स्वस्थ रखने में मदद करती है, बल्कि बीमारी की अवस्था में उससे उबरने में भी मदद कर सकती है। इतने फायदों के बावजूद इस बात को समझना जरूरी है कि गंभीर बीमारी की अवस्था में सिर्फ और सिर्फ डॉक्टर इलाज ही सही विकल्प है।

आइए, सबसे पहले हम मशरूम के विभिन्न प्रकारों के बारे में जान लेते हैं।

बटन मशरूम – Button mushroom

खाये जा सकने वाले तथा सामान्यतया सब्जी बाजार में मिलने वाले मशरूम सफ़ेद बटन मशरूम  होते हैं। ये दुनिया भर में सबसे अधिक उगाये जाने और खाये जाने वाले Mushroom हैं। भारत में भी इनकी खेती की जाती है। ये पहले सिर्फ सर्दी में उगाये जाते थे लेकिन अब तकनीकी तरीके से पूरे साल इनकी खेती की जाती है।

बटन मशरूम (button mushroom)
शिटेक मशरूम (shiitake mushroom)
सीप मशरूम (oyster mushroom)
प्लुरोटस ओस्ट्रेटस (Pleurotus ostreatus)
एगारिकस बिस्पोरस (Agaricus bisporus)
मशरूम के फायदे – Benefits of Mushroom in Hindi

कई मशरूम का उपयोग  खाद्य पदार्थ और दवा के रूप में लंबे समय से किया जाता रहा है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉज इंफॉर्मेशन) की ओर से प्रकाशित शोध में पाया गया कि मशरूम में पॉलीफेनोल, पॉलीसैकेराइड, विटामिन और कई मिनरल होते हैं। मशरूम में कई प्रकार के बायोएक्टिवट कंपाउंड भी होते हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीकैंसर, इम्यूनोमॉड्यूलेटरी, एंटीमाइक्रोबियल, हेपेटोप्रोटेक्टिव और एंटीडायबिटिक आदि कई मशरूम के गुण होते हैं। इसलिए, यह कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह और न्यूरोडीजेनेरेटिव जैसी बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है

सेहत/स्वास्थ्य के लिए मशरूम के फायदे (Health Benefits of Mushroom in Hindi)

जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा कि मशरूम में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। जानते हैं कि मशरूम किस प्रकार से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है।

हृदय

मशरूम दिल की सेहत का लिए अच्छा होता है। क्योकि इसमें फाइबर , पोटेशियम तथा विटामिन ‘C’ ऐसे तत्व हैं जो हृदय के लिए फायदेमंद होते हैं।इसके अलावा इसमें पाया जाने वाला बीटा ग्लुकेन नामक तत्व भी कोलेस्ट्रॉल कम करने में सहायक होता है।नीसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शाोध के अनुसार ऑइस्टर मशरूम पर 46 वर्ष की आयु वाले कुछ लोगों पर 24 दिन तक शोध किया गया। शोध में पाया कि मशरूम का सेवन  कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है। इसलिए, कोलेस्ट्रॉल के डर के बिना मशरूम का सेवन आराम से किया जा सकता है

प्रतिरोधक क्षमता

Mushroom से मिलने वाले सेलेनियम तथा एर्गोथियोनिन नामक तत्व प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते है।एर्गोथियोनिन में सल्फर होता है जिसकी कमी कई लोगों में पाई जाती है। यह तत्व प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। इसके अलावा मशरूम में विटामिन ‘ A ‘ , ‘ B ‘ और ‘ C ‘ का अच्छा समिश्रण होता है जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

स्तन और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव

ज्ञानिकों ने इस संबंध में भी मशरूम पर शोध किया है। बाद में इसे बतौर रिसर्च पेपर एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया। इस शोध में पाया गया कि स्तन और प्रोस्टेट कैंसर से बचने के लिए मशरूम एक रामबाण तरीका साबित हो सकता है। इसमें एंटी-ट्यूमर, इम्यूनोमॉड्यूलेटिंग व एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं। मशरूम में पाए जाने वाले ये गुण और साथ ही इसमें मौजूद फेनोलिक यौगिक स्तन कैंसर के साथ-साथ प्रोस्टेट कैंसर के लक्षणों को दूर रखने में मददगार हो सकते हैं। इसके अलावा, यह कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाओं को पनपने से रोकने में भी फायदेमंद हो सकता है

मधुमेह को दूर करने के लिए मशरूम के फायदे

मधुमेह जैसी समस्या से बचने के लिए मशरूम बेहतरीन खाद्य पदार्थ साबित हो सकता है। एनसीबीआई ने इसी संबंध में एक शोध प्रकाशित किया है। इसमें बताया गया है कि कुछ खास प्रकार के मशरूम में एंटीडायबिटिक गुण पाए जाते हैं, जो रक्त में मौजूद शुगर की मात्रा को कम करने में मदद कर सकते हैं। इन गुणों के कारण मशरूम मधुमेह को नियंत्रित कर उसके प्रभाव को बढ़ने से रोक सकता है। साथ ही अगर मशरूम का उपयोग मधुमेह को दूर करने वाली दवाओं के साथ किया जाए, तो शरीर में इंसुलिन का स्तर बेहतर हो सकता है

प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए

अगर कोई हमेशा कमजोर या बीमार महसूस करता हैं, तो इसका एक कारण कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। यह पॉलीसेकेराइड (polysaccharides) से समृद्ध होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकते हैं और मशरूम को लाभकारी औषधीय गुण प्रदान करते हैं

वजन को कम करने के लिए मशरूम खाने के फायदे

बढ़ता हुआ वजन हर किसी के लिए एक परेशानी का विषय हो सकता है। वजन को कम करने और उसे नियंत्रित करने के लिए मशरूम अच्छा प्राकृतिक विकल्प साबित हाे सकता है। चीन की एक शोध संस्था के अनुसार, मशरूम में फाइबर के साथ-साथ पॉलीसेकेराइड, टेरपेन, पॉलीफेनोल, फ्लेवोनोइड्स जैसे कई बायोएक्टिव कंपाउंड पाए जाते हैं, जो मोटापे के कारण होने वाली हृदय संबंधी समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, मशरूम में एंटीओवेसिटि गुण भी होते हैं, जो बढ़ते वजन को कम करने में फायदेमंद हो सकते हैं ध्यान रहे कि मोटापे को कम करने के लिए मशरूम के सेवन के साथ-साथ नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम और जीवनशैली में बदलाव भी जरूरी है।

पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए

शायद इस पर यकीन करना मुश्किल हो, लेकिन अल्सर के कुछ लक्षणों को मशरूम के जरिए ठीक किया जा सकता है। इसके लिए मशरूम का अर्क लाभदायक साबित हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध एक रिसर्च पेपर में भी इस बारे में विस्तार से बताया गया है। चूहों पर किए गए इस रिसर्च में पाया गया कि मशरूम में एंटी-अल्सर गुण पाए जाते हैं। मशरूम में पाया जाने वाला यह गुण अल्सर से उबरने में कुछ मदद कर सकता हैएक अन्य शोध के अनुसार, मशरूम में फाइबर की मात्रा भी पाई जाती है, जिस कारण मशरूम का उपयोग कब्ज संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए किया जा सकता है। वैज्ञानिक शोध में इस बात की भी पुष्टि की गई है कि कब्ज में मशरूम का सेवन करने से नकारात्मक परिणाम न के बराबर रहे हैं

बालों को झड़ने से रोके

बालों के झड़ने की समस्या से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। शोध में पाया गया है कि मशरूम को विटामिन डी, एंटीऑक्सीडेंट और आयरन, सेलेनियम व कॉपर जैसे मिनरल का अच्छा स्रोत माना गया है। ये सभी पोषक तत्व बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने के साथ ही उन्हें स्वस्थ और मजबूती प्रदान करने में लाभदायक हो सकते हैं। साथ ही बालों के झड़ने और रूसी को रोकने में उपयोगी हो सकते हैं

मशरूम के नुकसान(Side effects of mushroom in Hindi)

मशरूम की कई प्रजातियां जहरीली होती हैं जो खाने योग्य नहीं होती हैं। यदि अच्छी पहचान नहीं हो तो कहीं भी उगी हुई Mushroom देखकर खाने के लिए नहीं लेनी चाहिए।

कई जंगली मशरूम में भारी धातु हो सकती है जो बहुत खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसी Mushroom न सिर्फ शरीर के लिए बल्कि हवा और पानी को भी संक्रमित कर सकती हैं। प्रदूषित वातावरण में पैदा होने वाली खाने योग्य प्रजाति भी हानिकारक हो सकती है।

मशरूम से कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है। ऐसे में इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। यदि मशरूम खाना शुरू कर रहे हों तो पहले कम मात्रा में खाना चाहिए , एलर्जी नहीं हो तो अधिक खा सकते हैं।

पुराने , बासी या सही तापमान पर नहीं रखे गए मशरूम का उपयोग फ़ूड पोइज़निंग का कारण बन सकता है अतः ताजा Mushroom ही काम में लेने चाहिए। बाजार से भी विश्वसनीय जगह से ही इन्हे खरीदना चाहिए।

सिर्फ एक जहरीली मशरूम के भोजन में आ जाने से कई लोग बीमार हो सकते हैं। इसकी वजह से जी घबराना , उल्टी आना , बेहोशी आना , मतिभ्रम होना , ऐंठन होना आदि लक्षण प्रकट हो सकते हैं।

मशरूम (कुकुरमुत्ता) के फायदे तब तक ही हैं, जब तक उसे उचित मात्रा और सही जानकारी के साथ खाया जाए। इसे असंतुलित मात्रा में खाने से कुछ नुकसान हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

कुछ मशरूम में जहरीला प्रभाव होता है, जिस कारण ये जानलेवा साबित हो सकते हैं

                                              Mushroom

9 thoughts on “मशरूम खाने के फायदे और नुकसान हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close
Translate »